भारत का यह पूरा गांव ही YouTubers बना! हर घर में कमाने लगे हजारों लाखों रूपये

Indias YouTubers Village : भारत देश में इंटरनेट और सोशल मिडिया ज्यादा लोग इस्तेमाल करते हैं। कोई अपने टाइम बिताने के लिए तो कोई कुछ सिख के अपना करिअर भी बना रहे हैं. आज के वक्त भारत में Content Creation का एक ट्रेंड चल रहा हैं, पहले भारत में अच्छा सीखकर कोई शिक्षक, डॉक्टर बनना चाहते थे, तो कोई पढाई करके नौकरी की खोज में रहते थे। लेकिन भारत में आज के वक्त बहुत लोग यह सोचते हैं की इंटरनेट सोशल मिडिया का इस्तेमाल करके कुछ तो करें, इसमें कोई Youtuber, ब्लॉगर, कंटेट क्रिएटर ऐसा बनना चाहता हैं।

Indias YouTubers Village

गांव को YouTubers का Hub के नाम से पहचान

भारत में कंटेंट क्रिएशन के ट्रेंड में एक गांव लगभग पढ़े हुए सभी लोग कंटेंट क्रिएशन करते हैं और इन सबका YouTube चैनल हैं जिसकी मदद से अच्छी कमाई कर रहे हैं। इनमें से कही लोग है जो YouTube की मदद से महीने का लाखो रुपए कमा रहे हैं। ऐसा ही भारत में एक गांव है जो पूरा गांव यही काम करता हैं। आपको यह जानकर गर्व महसूस होगा की इस गांव को YouTubers का Hub भी कहा जाता हैं, यह गांव कहा हैं इसकी पूरी जानकारी आज आपको मै देने जा रहा रहूं।

भारत में YouTubers का गांव किस राज्य में हैं

दोस्तों भारत के छत्तीसगढ़ राज्य की राजधानी रायपुर हैं. रायपुर के नजदीक ही एक गांव हैं उस गांव का नाम तुलसी गांव हैं। इस गांव की जनसंख्या 3000 है। तो इसी गांव को भारत का पहला YouTubers का गांव ( Indias YouTubers Village ) कहा जाता हैं। तुलसी गांव के हर घर-घर में लोगों ने खुद का YouTube Studio बनाया हैं. इस YouTube Studio जो इसमें ज्यादा टैलेंट हैं जो कंटेंट क्रिएशन करना जानता हैं वो हर शख्स YouTube में कंटेंट क्रिएशन करके पैसे कमाते हैं।

मिडिया रिपोर्ट के अनुसार तुलसी गांव में सिर्फ 5 साल के बच्चे से लेकर 85 साल के बुजुर्ग तक YouTube पर वीडियो बनाते हैं, तुलसी गांव में 3000 के आसपास की आबादी हैं और उसमें 1,000 से अधिक लोग YouTubers हैं। इसके कारण हैं रायपुर के तुलसी गांव को YouTubers के गांव के नाम से पुरे भारत में पहचान मिली हैं।

तुलसी गांव कैसे बना YouTuber का गांव

तुलसी गांव की YouTube Village बनने की कहानी ऐसे शुरू हुई। तुलसी गांव के 2 युवा ज्ञानेंद्र शुक्ला और जय वर्मा नौकरी कर रहे थे और ऐसेही इंटरनेट पे जानकारी हासिल की और अपनी नौकरी छोड़ कर YouTube पर कंटेंट बनाने का काम शुरू किया। कंटेंट बनाते टाइम इन दो युवाओं को लगा दोनों से अच्छा कंटेंट नहीं होगा इसमें और लोगों की जरुरत हैं। फिर दोनों ने गांव वाले लोगो से बात किया और उनको भी YouTube कंटेंट क्रिएशन करने के लिए प्रेरित किया, और इन दोनों ने गांव के हर घर में जो पढ़ाई किया हैं और उसको ये समझता हैं उसको YouTube चॅनेल स्टार्ट करके दिया। बस इस वजह से तुलसी गांव में 1,000 से भी ज्यादा लोग YouTubers बन चुके हैं और हर महीने अच्छी तरह पैसे कमाते हैं।

रायपुर के जिला अधिकारी की गांव को मदत

तुलसी गांव में YouTubers की संख्या बढ़ती रही। यह खबर राज्य में फ़ैल गयी फिर रायपुर के जिला अधिकारी सर्वेश्वर भूरे ने गांव को भेट दी और इन लोगों को मदद के लिए गांव में 25 लाख रुपए दिए। इस 25 लाख से गांव में YouTube Studio तैयार किया और उसका नाम ‘हमर Flix’ रखा गया। इस YouTube Studio को तैयार करने का एकमात्र उद्देश्य था की लोगों आसानी से वीडियो रिकॉर्ड करे और अपना करिअर करके पैसा कमाए।

YouTube Studio में आधुनिक कंटेंट क्रिएशन टूल्स उपलब्ध किये हैं। जिसके कारण गांव के लोग अच्छे वीडियो रिकॉर्ड करें। YouTube Studio खोलने के बाद YouTube कंटेट बनाने वालों ने वीडियो एडिटिंग और ग्राफ़िक्स जो काम करना चाहते हैं उनको भी रोजगार उपलब्ध करके दिया हैं ताकि गांव में हर कोई काम करके आसानी से घर घर में पैसा कमाए। और तुलसी गांव और आगे बढ़कर दुनिया में गांव का नाम रोशन करें।

दोस्तों आपके पास भी ऐसा हुनर, स्किल हैं तो आप भी दिमाग लगाकर ऐसा काम अपने गांव के साथ मिलकर कर सकते हैं. इससे जो कम पढाई किया है और उसको सीखा के उसको रोजगार भी मिलेगा और हर घर भी आर्थिक रूप से मजबूत होगा। आपको यह गांव की सक्सेस कहानी कैसे लगी जरूर बताए।

दोस्तों अगर आपको यह Indias YouTubers Village स्टोरी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेअर करें और जल्द से जल्द ही अपना यूट्यूब करियर स्टार्ट करें।

यह भी पढ़े: पत्नी की मदत से पति ने खड़ी की 50000 करोड़ की कंपनी!

हमें Pinterest, Facebook और Instagram पर फॉलो करें.

Leave a Comment