भोपाल के इस लड़के ने ६ हजार रूपये से बनाई 5 करोड़ की कंपनी

Shaktisteller Company Success Story : भारत और दुनिया में बहुत लोग नए स्टार्टअप के साथ अपना नया बिजनेस की शुरुआत कर रहे हैं, जो नौकरी करके 5 साल में नहीं कमा सकते हैं वो आप बिजनेस में एक महीने या 1 साल में भी लाखों करोड़ों कमा सकते हैं। लेकिन बिजनेस करने के लिए दृढ़ आत्मविश्वास, मेहनत, लगन, ईमानदारी और आइडिया की जरूरत होती है। ऐसे ही कुछ करके दिखाया हैं अंकित रॉय ने करोड़ों रु का कारोबार खड़ा कर दिया।

हर एक के जिंदगी में कुछ तो ऐसे मोड़ आते ही रहते हैं और कुछ करने का हौसला भी बढ़ जाता हैं. एक समय अंकित को अपनी मां की बीमारी के चलते नौकरी छोड़नी पड़ी थी। लेकिन नौकरी छूटी तो कुछ नया करने का उनके के मन में आया और वहीँ से नए स्‍टार्टअप का रास्ता खुला। फिर अंकित की मां के गुजर गई और वो डिप्रेशन में पहुंच गये। तभी उनका स्‍टार्टअप पार्टनर ने धोका दिया। अंकित ने स्टार्टअप के लिए जिस निवेशक पर भरोसा था उसने भी उस वक्त मना कर दिया। फिर भी उन्होंने हार नहीं मानी और 5 करोड़ की कंपनी खड़ी करके दिखाई। दोस्तों अंकित की यह प्रेरणा देनेवाली स्टोरी आपको बताने जा रहा हूँ।

Shaktisteller Company Success Story

कौन है अंकित ?

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से अंकित में साधारण वर्ग के हैं। अपनी स्कुल होने के बाद उन्होंने 2009 में भोपाल के राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय से इलेक्ट्रॉनिक से बीटेक प्राप्त किया फिर नौकरी की खोज में मुंबई आये और उन्हें मुंबई में नौकरी मिल गयी। 5 साल तक मुंबई में काम किया फिर उनके माँ को कैंसर होने का पता चला। फिर माता के इलाज के लिए वे मुंबई की नौकरी छोड़कर भोपाल आए। लेकिन उन्होंने हार नहीं मनी और कुछ तो करना हैं ऐसा मन में ही सोच लिया। Shaktisteller Company Success Story

मुंबई की नौकरी छोड़ने के बाद नहीं मिली दोबारा नौकरी

अंकित ने पहले माँ के लिए मुंबई की नौकरी छोड़ी और फिर अपनी माँ को खोने के बाद नौकरी की खोज में थे और उनको उम्मीद थी कि वे भोपाल या उसके आसपास नौकरी हासिल करेंगे। मगर ऐसा नहीं हुआ नौकरी मिली लेकिन मुंबई जैसी सैलेरी उन्हें भोपाल में नहीं मिली। फिर वो पुरे 2 साल तक बेरोजगार रहे। लेकिन उनके मन में खुद का बिजनेस शुरू आयडिया आया। जब वो मुंबई में थे पढ़ा था की आगे सौर ऊर्जा का कारोबार बढ़ेगा। फिर यही मन में लेकर उन्होंने सोलर पैनल लगाने के बिजनेस करने का सोच लिया।

2018 में शक्तिस्टेलर नाम कंपनी बनाई

अंकित ने 2018 में शक्तिस्टेलर नाम की कंपनी से अपना स्‍टार्टअप शुरू किया। लेकिन बिजनेस करने के लिए अंकित के पास पैसे कम थे। फिर भी उन्‍होंने बिजनेस को शुरू करने का फैसला कर दिया। अंकित को पहला ऑर्डर उनके पिता के दोस्‍त ने दिया। अंकित ने उनके वही सोलर पैनल लगाकर सिर्फ 6 हजार रुपये कमाए। पर जैसे ही काम शुरू हुआ, तब उनकी मां का देहांत हो गया। उस दौरान उनकी पत्‍नी ने उन्‍हें धीर दिया तब वो काफी डिप्रेशन में थे और डिप्रेशन से बाहर निकलने में 6 महीने लग गए। उन्होंने बिजनेस के लिए पैसे भी जमा किये।

लोगों ने दिया धोका

शक्तिस्टेलर कंपनी की शुरुआत की और एक ऑर्डर मिला तब दो लोगों ने धोखा दिया। काम करने के लिए उन्होंने सारा सामान खरीद लिया तो सामने वालेने मना कर दिया। लेकिन उसी सिस्टम को अंकित ने अपने घर पर ही लगाया। ऐसे बिजनेस में अकेले बिजनेस करना आसान नहीं था। उन्होंने अपने जूनियर को पार्टनर बनाया और वो भी डेढ़ लाख रुपये लेकर भाग गया।

5 करोड़ रूपये की कंपनी

अंकित ने बिजनेस को और पैसे जुटाने की काफी प्रयास किया। इसलकिये वो एक शख्‍स से अपने दोस्त के जरिए मिले, जो कि ज्यादा निवेश के लिए तैयार था। मगर कुछ ही दिन में उसने भी निवेश करने के लिए मना कर दिया। फिर अंकित ने हार नहीं मानी। लगातार कोशिश जारी रखी। फिर उनका परिचय प्रवीण नाम के व्यक्ति से हुआ। और प्रवीण उन लोगों जैसा नहीं मिला जो धोका देके भाग गए. प्रवीण ने अंकित का अच्छा साथ दिया और प्रवीण अब उनकी कंपनी में मार्केटिंग संभालते हैं। दोनों की मेहनत से विश्वास से शक्तिस्टेलर बढ़िया ढंग से चल रही है।पिछले साल शक्तिस्टेलर कंपनी का टर्नओवर 3 करोड़ रुपये था, इस कंपनी टर्नओवर बढ़ सकता हैं।

दोस्तों जो काम करना हैं तो कितनी भी कठिनाई आएगी उसका डटकर सामना करो और जिद्द न छोड़ें आत्मविश्वास के साथ काम करते रहें और बिजनेस में जो भी पार्टनर लेते हो उसको परखकर ही लें। बिजनेस में निवेश करने के लिए भी जो सच में निवेश करेगा उसके साथ ही जुड़े। इसलिए कोई भी बिजनेस करते वक्त बस इस बात का ध्यान रखें सफलता अपने पास होगी.

यह भी पढ़े: केले के चिप्स बेचकर खड़ी कर दी करोड़ो की कंपनी

दोस्तों अगर आपको यह Shaktisteller Company Success Story अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेअर करें और अपने दोस्तों को भी बिजनेस करनेके लिए मोटिवेट करें।

Leave a Comment