इस महिला ने बना डाली 1 लाख रूपये से 800 करोड़ की कंपनी

Poonam Gupta Success Story : दोस्तों जिंदगी में कुछ हासिल करना हैं तो खाली चुप बैठ के कुछ नहीं हो सकता हैं इसकेलिए आपको कुछ करने का लगाव चाहिए और उसे करने के लिए मेहनत और आत्मविश्वास की जरुरत हैं। दुनिया में बहुत सारे उदहारण हैं जिन्होंने छोटी छोटी चीजों से सीखकर बड़ा मुकाम हासिल किया हैं। ऐसे ही भारतीय मूल की उद्योगपति पूनम गुप्ता ने करके दिखाया हैं, उन्होंने ऐसा क्या किया की वो दुनिया में उनका कारोबार बहुत बढ़ा हैं। पूनम गुप्ता के बारे में जानिए पूरी जानकारी।

Poonam Gupta Success Story

कौन है बिजनेस वूमन पूनम गुप्ता

महिला उद्योगपति पूनम गुप्ता ( Poonam Gupta ) दिल्ली में जन्म हुआ और पढाई भी दिल्ली में पूरी की हैं। दिल्ली के लेडी श्रीराम कॉलेज से इकोनॉमिक में ऑनर्स किया है. फिर एमबीए (MBA) किया उसके बाद नौकरी की तलाश करने लगी। एक कंपनी में कुछ महीने काम किया लेकिन कही बड़ी सफलता नहीं मिली. 2002 में उनकी शादी पुनीत गुप्ता से हो गए, पुनीत गुप्ता स्कॉटलैंड में नौकरी करते थे. फिर शादी के बाद पति के साथ पूनम भी स्टॉकलैंड शिफ्ट हो गईं और वहां पर नौकरी की तलाश में लगीं. लेकिन Experience न होने के कारण नौकरी मिलने बहुत दिक्कत आने लगी।

Office में रद्दी को देखकर दिमाग में आया Idea

पूनम गुप्ता स्कॉटलैंड में जब नौकरी की खोज में ऑफिस जाती थी तब उन्हें सब ऑफिसों में ज्यादा मात्रा में रद्दी के ढेर नजर आए। फिर घर पर आके बैठे वक्त में उन्होंने रद्दी को देखकर रिसर्च शुरू किया की इस रद्दी की Recycling कर सकते हैं और वापस कागज की सप्लाय कर सकते हैं। उसी समय पूनम को Scotland Goverment द्वारा एक योजना की जानकारी मिली। फिर उस योजना के लिए उन्होंने निवेदन देके एक योजना के तहत 1,00,000 रुपये का फंड प्राप्त किया। और इस फंड की मदत से ही Poonam Gupta ने नौकरी न करने का निर्णय लिया और खुद का रद्दी का बिजनेस शुरू करने का प्लान तैयार किया और उस प्लान के तहत PG Paper Company Limited की स्थापना करके काम शुरू किया.

PG Paper कंपनी ने पूरी दुनिया में किया विस्तार

जब पूनम गुप्ता ने PG Paper Company Limited कंपनी खोली और इसके जरिए ऑफिसों में रद्दी खरीदने का बिजनेस स्थानीय चालू किया था। लेकिन इसकी डिमांड बढ़ी तो उन्होंने पूरे स्कॉटलैंड में बिजनेस का विस्तार कर दिया. फिर इसके बाद भारतीय मूल की इस महिला उद्योगपति ने पीछे मुड़कर देखा ही नहीं बल्कि इस रद्दी के बिजनेस का विस्तार यूरोप और अमेरिका देशों में किया। इन देशों में बड़े कंपनियों के साथ PG पेपर का कॉन्ट्रैक्ट है। इस बड़े कंपनियों में से रद्दी के पेपर ( Scrap Paper ) खरीदी जाती है. इस समय में PG Paper कंपनी का कारोबार विश्व के 60 देशों में फैला है.

पूनम गुप्ता का सिर्फ 1 लाख से 800 करोड़ की कमाई

पूनम गुप्ता ने 2003 में मतलब 20 साल पहले ने Scotland सरकार द्वारा बनाई गई योजना के तहत मिले 1 लाख रुपये की मदद से PG Paper नाम से रद्दी को रिसाइकिल करने वाला नया खुद का Startup शुरू किया. जब नौकरी ढूंढने ऑफिसों में जाती थी तब जो ररद्दी देखकर जो बिजनेस करने का मन में Idea बनाया। फिर उसी रद्दी पेपर खरीदने और उसे अपनी कंपनी में रिकाइक्लिंग द्वारा सबसे बेहतर Quality के New Paper में बदल करके सप्लाई करने का Idea काम आया और इनके इस बिजनेस का रफ़्तार ऐसे बढ़ गया। इसी वजह से PG Paper कंपनी पिछले 20 में दुनिया के 60 देशों में काम कर रही हैं। जो कंपनी 1 लाख रुपये से शुरू कर दी वही कंपनी आज 800 करोड़ रुपये बन गई है.

यह भी पढ़े: सरकारी नौकरी छोड़कर बने 18000 करोड़ रूपये संपत्ति के मालिक

रद्दी से भी बिजनेस बन सकता हैं यह पूनम गुप्ता ने PG Paper की कंपनी स्टार्ट करके दिखाया हैं। दोस्तों अगर आपक यह Poonam Gupta Success Story अच्छी लगी हो तो जरूर अपने दोस्तों के साथ शेअर करें।

Leave a Comment