नियमित गुड़ खाएं और सेहतमंद बच्चे को जन्म दें

माँ बनने की ख्वाहिश हर महिला का सपना होता है. किसी महिला के लिए गौरव की बात और क्या हो सकती है? यदि आप भी माँ बनने का सपना संजो रही हैं, तो गुड़ खाना कतई न भूलें. यही नहीं, स्वस्थ शिशु को जन्म देने के लिए गुड़ का अधिक मात्रा में सेवन करें.

एक सर्वेक्षण परिणाम बताता है की शहरों में खासकर कम  वजन के शिशुओं के जन्म की घटनाओं में तेजी से इजाफा हो रहा है. इसकी मुख्य वजह है कि यहाँ पर निवासरत गर्भवती महिलाएं आयरन युक्त भोजन से परहेज रखती हैं. विशेषज्ञों की राय है की यदि आप माँ बनने जा रही हैं तो अपने स्वस्थ शिशु के लिए गुड़ अवश्य खाएं. एक नए सर्वेक्षण में खुलासा हुआ है कि शहरी क्षेत्रों में कम वजन के शिशुओं के जन्म की घटनाएं तेजी से बढ़ रही हैं.

यदि आप भी माँ बनने का सपना संजो रही हैं तो अपने स्वस्थ शिशु के लिए तनाव से दूर रहें, गुड़ खाएं, व्यायाम जरूर करें और धूम्रपान व मद्यपान से पूरी तरह दूर रहें. छरहरी काया और त्वचा की देखभाल सम्बन्धी उत्पाद बनाने वाली कम्पनी वीएलसीसी  ने यह सर्वेक्षण किया. गौरतलब है की इस सर्वेक्षण में देशभर की उच्च व मध्यवर्गीय समूह की करीब १,५०० महिलाओं को शामिल किया गया था.

नियमित गुड़ खाएं और सेहतमंद बच्चे को जन्म दें
नियमित गुड़ खाएं और सेहतमंद बच्चे को जन्म दें

सर्वेक्षण परिणाम: शहरी भारत में २४ प्रतिशत किशोर ऐसे हैं जिनका जन्म के समय वजन कम (२.५ किलोग्राम से कम ) था जबकि केवल १४.७ प्रतिशत का ही जन्म के समय सामान्य वजन था. वीएलसीसी के इस सर्वेक्षण से सम्बन्ध अधिकारीयों के मुताबिक जन्म के समय शिशुओं के काम वजन के लिए जीवनशैली एक प्रमुख जिम्मेदार कारक है.

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ सेरिब्रल पाल्सी (आईएसीपी) के अनुसार संतुलन बनाए रखने के लिए ग्लूकोज की अधिकता वाला भोजन लें. वे अपने भोजन में गुड़ को शामिल करें. शोधकर्ताओं  के अनुसार जन्म के समय शिशुओं के काम वजन के लिए जीवनशैली एक प्रमुख जिम्मेदार कारक है. गर्भावस्था के पहले तीन महीने के दौरान महिलाओं को उलटी की शिकायत रहती है इस कारन वे कम भोजन ग्रहण करती हैं. इसके परिणामस्वरूप भ्रूण को संतुलित पोषण नहीं मिल पाता है.


Leave a Reply